बीबीसी की खबर में सेक्स का तड़का

0
235

बीबीसी की खबर में सेक्स का तड़का bbc news now sex cantent journlisam Image result for bbc
सुशील उपाध्याय
देहरादून ये 15 मई, 2017 को बीबीसी हिंदी की टॉप—10 खबरें हैं। पिछले कुछ दिनों से साफ दिख रहा है कि बीबीसी आॅनलाइन की खबरों में भी सेक्स का तड़का लगाया जा रहा है। ​करीब एक दशक से बीबीसी का आॅनलाइन पाठक हूं, ये गंदगी एक साल से ज्यादा बढ़ी है। पता नहीं संपादकों और पत्रकारों को ऐसा क्यों लगता है कि सेक्स—केंद्रित हुए बिना उनकी खबरों का कोई मोल नहीं होगा। पिछले दिनों एक वेबसाइट ने तो ‘हिटलर के लिंग की लंबाई’ पर खबर जारी कर दी थी। बीबीसी को देखकर लग रहा है कि ये भी पीछे नहीं है। मेरे जैसे पाठक बीबीसी को उसके पॉलीटिकल कंटेंट के लिए पढ़ते हैं, न कि सेक्स की खबरों के लिए। पता नहीं, रेहान फजल जैसा पढ़ा—लिखा आदमी, अपने संस्थान की वेबसाइट पर सेक्स—प्रेरित खबरों को कैसे देखता होगा!

चिंता की बात ये है कि इनमें से कई खबरों पिछले एक महीने से भी अधिक समय से टॉप—10 की लिस्ट में हैं। कई खबरों को कुछ अंतराल के बाद रिपीट भी किया जा रहा है। यदि आप बीबीसी की साइट पर सर्च बॉक्स में केवल ‘सेक्स’ लिखकर सर्च करें तो पहले ही क्लिक पर 1224 परिणाम मिलते हैं, लगता है कि आप कोई न्यूज पोर्टल नहीं, बल्कि सेमी पोर्न पोर्टल विजिट कर रहे हैं। मैं न तो सेक्स पर विचार करने के खिलाफ हूं और न ही इसे अस्पृश्य विषय मानता हूं, लेकिन मेरा दृढ़ मत है कि ये किसी न्यूज पोर्टल का अनिवार्य हिस्सा नहीं होना चाहिए।

नहीं तो ज्यादा टाइम नहीं लगेगा जब न्यूज के लिए ‘सेक्सयूज’ या ‘न्यूजेक्स’ जैसे शब्द प्रचलन में आ जाएंगे प्रेस्टिट्यूट की तरह! ऐसी गंदगी हिंदी की नामी पत्रिका इंडिया टुडे भी फैलाती रही है। चाहे बीबीसी हो या इंडिया टुडे ये स्वतंत्र हैं कि पोर्न कंटेंट पर चाहे पत्रिका छापे हैं या पोर्टल चलाएं, लेकिन न्यूज की आड़ में ऐसा करना अस्वीकार्य है। बीबीसी की तुलना में जर्मन रेडियो डायचे—वैले और रेडियो चाइना इंटरनेशनल की हिंदी साइटों पर सेक्स—केंद्रित सामग्री लगभग न के बराबर दिखती है। बीबीसी की टॉप—10 लिस्ट के अलावा भी अन्य कई खबरें सेक्स में लिथड़ी हुई नजर आती हैं। ‘पत्नी के साथ सेक्स वीडियो डालता था पार्न साइट पर …’ हेडिंग वाली खबर कई महीने से बीबीसी की टॉ—10 में शामिल है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments