नौगांव बड़कोट में सिरदर्द बन गया ठेकेदार यमुना नदी को दूषित करने वाले पर कोई कारवाही नहीं

0
489

नौगांव बड़कोट में सिरदर्द बन गया ठेकेदार यमुना नदी को दूषित करने वाले पर कोई कारवाही नहीं

बड़कोट (उत्तरकाशी ) । वन विभाग की घोर लापरवाही और मिली भगत होने के चलते यमुना नदी को प्रदुषित किया जा रहा है । दिल्ली यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग में कृष्णा गांव के पास अन्षुमान कन्ट्रेषन कम्पनी द्वारा लगातार यमुना नदी में हजारो टन मलबा डाल कर यमुना जैसी पवित्र व निर्मल नदी को मैला करने का काम किया जा रहा है , इतना ही नही चैड़ीकरण के बाद डामरीकरणी का कार्य भी शुरूआती दौर में मानको के विपरित हो रहा है।
मालुम हो कि दिल्ली यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 507 में सरूखेत से नौगांव ब्लाक तक 2013 से चैड़ीकरण का कार्य चल रहा है और विभागीय लापरवाही के चलते कार्य रही संस्था अपनी मनमानी कर जहां आम लोगो को परेषान किये हुए है वही यमुना नदी को प्रदुषित किया जा रहा है। कृष्णा गांव के पास चैड़ीकरण स्थल से महज 20 मीटर की दूरी पर डपिंगजोन होने के बाबजुद ठेकेदार सीधे यमुना नदी में हजारो टन मलबा सीधे यमुना नदी में डम्प कर रहा है जिससे पवित्र व निर्मल यमुना को मैला किया जा रहा है , इतना ही नही इस डप्ंिाग से जहंा ग्राम बगासु की पेयजल लाईन क्षतिग्रस्त हो गयी है वही रोड़ और यमुना नदी के बीच दर्जनो हरे पेड़ भी क्षतिग्रस्त हो गये है। वन विभाग ने एक बार ठेकेदार के खिलाप जुर्माना काटकर अपने कर्तव्य की इतिश्री कर ली है जिसके बाद ठेकेदार जमकर यमुना नदी में चैड़ीकरण से निकलने वाले चट्टानी मलबा सीधे यमुना मे डाला जा रहा है। अब इसे राष्ट्रीय राजमार्ग की अनदेखी कहे या वन विभाग के अधिकारियो की मिलीभगत , आखिर हर रोज दोनो विभागो के अधिकारी हररोज इस रोड़ से गुजरते है उनको यह साफ दिखाई देता है कि चैड़ीकरण से निकलने वाला मलबा सीधे यमुना में डाला जाना
, उसके बाद भी कार्यवाही न होना विभाग की अनदेखी व मिलीभगत को दर्षाता है। इतना जरूर है कि केन्द्र और राज्य सरकारें नदियों के निर्मलता और अबिरलता को लेकर बडे़ संजीदा है , और पानी की तरह करोड़ो रूपये खर्च भी किये जा रहे है उसके बाद भी यमुना को प्रदुषित किया जाना शासन प्रषासन की गहरी निद्रां में होना भी दर्षा रहा है। भाजपा नेता हरीमोहन चन्द कहते है कि नौगांव बड़कोट के बीच चल रहा एनएच का चौड़ीकरण आम लोगो के लिए सरदर्द बन गया है , आये दिन घण्टों जाम में फंसे रहने के अलावा ठेकेदार मषीनो और डम्परो से सीधे मलबा यमुना में डम्प कर रहे है जो सरासर गलत है। जेष्ट उप प्रमुख प्रकाष असवाल कहते है कि चौड़ीकरण होना सही है पर जब विभाग ने ठेकेदार को डम्प करने के लिए नियत स्थान दिया हुआ है उसके बाद भी सीधे यमुना में मलबा डाला जाना गलत है , इसके लिए एनएच के अधिकारियों व वन विभाग को कहा गया था लेकिन उसके बाद भी कार्यवाही न होना विभागों की मिलीभगत माना जा रहा है। प्रधान संगठन ब्लाक अध्यक्ष एंव ग्राम सभा बगासु प्रधान नयन सिंह बर्तावाल कहते है कि कृष्णा गांव के पास से हमारे गांव के लिए पेयजल लाईन आती है जो एनएच पर काम कर रहे ठेकेदार द्वारा क्षतिग्रस्त कर दी गयी , गांव को पानी भी नही मिल पा रहा है इसका हमारे द्वारा विरोध भी किया गया और इतना ही नही यमुना नदी में हजारो टन मलबा डाला जा रहा है जो सरासर गलत है , यमुना में मलबा डाले जाने से नदी ही नही इस बीच पड़ने वाले दर्जनो पेड़ , पक्षीयों के आसियाने भी क्षतिग्रस्त हो गये है। वन विभाग ने एक बार हमारी षिकायत पर जुर्माना भी किया उसके बाद भी ठेकेदार सीधे यमुना में मलबा डाले जा रहा है। अगर जल्द पेयजल लाईन को ठीक नही किया जाता है और यमुना में डपिंग बन्द नही की जाती तो ग्रामीण आन्दोलन के लिए बाध्य हो जायेगें । एनएच के अधिषासी अभियन्ता ने बताया कि अन्षुमान कम्पनी को चैड़करण का काम दिया गया है और विभाग ने डम्पिंग जोन भी तय किया हुआ उसके बाद भी ठेकेदार द्वारा यमुना में मलबा डाला जाना गलत है इसके लिए विभाग ने ठेकेदार को नोटीस भी दिया हुआ है। इधर वन विभाग के प्रभागीय वनाधिकारी डी.के.सिंह ने बताया कि यमुना में डपिंग की जानकारी मिलते ही ठेकेदार के खिलाप जुर्माने की कार्यवाही की गयी और उसके बाद भी अगर वह लगातार मलबा यमुना में डालने को काम करेगा तो पुनः ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।
bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल www.bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments