आशा निरोध को लेकर सरकार के खिलाफ अधिकारी साजिश की बू

0
809

देहरादून उत्तराखंड आशा हेल्थ वर्कर्स यूनियन ने सरकार द्वारा डायरिया और नसबंदी पखवाड़े में राज्य की कई जगहों पर “आशा निरोध” बांटे जाने की तीव्र निंदा करते हुए इसे आशाओं और सभी महिलाओं के लिए बेहद अपमानजनक बताया है।राज्य में सरकार के खिलाफ किये गए इस काम की जहा निंदा हो रही है वही सवाल उठा रहा है की जिस राज्य का निर्माण महिलाओं के आंदोलन की बदौलत हुआ था उसी राज्य में इस तरह के कामो को अंजाम दिया जायेगा

यूनियन ने प्रेस-बयान में कहा कि इस अपमानजनक व्यवहार के ख़िलाफ़ पूरे प्रदेश में कल 15 जुलाई को यूनियन द्वारा स्वास्थ्य मंत्री का पुतला दहन किया जायेगा। “एक ओर तो सरकार तमाम काम करने के बावजूद आशाओं को मासिक मानदेय तक देने को राजी नहीं है और उनके श्रम का लगातार शोषण हो रहा है। इसके ख़िलाफ़ आशाएँ पूरे प्रदेश में डायरिया और नसबंदी पखवाड़े का बहिष्कार कर रही हैं। दूसरी ओर सरकार ने आशाओं के जले पर नमक छिड़कते हुए राज्य के कई भागों में आशाओं को “आशा निरोध” बाँटने का फरमान सुना दिया है।इस अपमान का पुरजोर विरोध किया जायेगा।
अगर हरीश रावत की राज्य सरकार को इस तरह के हथकंडे सम्मान का पर्याय लगते हैं तो उन्होंने “मुख्यमंत्री निरोध” और “स्वास्थ्य मंत्री निरोध” क्यों नहीं जारी किये।“इस तरह की हरकत और योजना में संलिप्त मंत्री,अधिकारियों, निर्माता कंपनी और प्रोग्राम निदेशक के ख़िलाफ़ दंडात्मक कार्यवाही की जानी चाहिये अन्यथा महिला सम्मान के इस सवाल पर अन्य महिला संगठनों, यूनियनों को भी इस प्रतिरोध में उतारा जायेगा।” यूनियन और आशाओं के लिये अपना सम्मान सर्वोपरि है, अगर तत्काल राज्य सरकार द्वारा माफ़ी मांगते हुए सभी दोषी लोगों पर कार्यवाही के साथ ये कंडोम वापस नहीं लिये गए तो यूनियन अपनी मानदेय सहित अन्य माँगो को पीछे छोड़कर इसी सवाल पर सरकार को घेरेगी और सभी स्थानों में सत्ता पक्ष के विधायकों का घेराव किया जायेगा। राज्य में ये मुद्दा भाजपा लपक सकती है लेकिन सवाल ये है की क्या स्वस्थ महकमा राज्य में सरकार की किरकिरी क्यों करवा रहा है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments