अरविन्द केजरीवाल: दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़त से ख़त्म से हो सकती है मेट्रो सुविधा

0
312
अरविन्द केजरीवाल: दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़त से ख़त्म से हो सकती है मेट्रो सुविधा: Arvind Kejriwal is in perturbing stage about Delhi Metro 

kejriwal
नई दिल्ली। मेट्रो में बढ़ी किराये की दर से यात्रियों द्वारा की जाने वाली यात्रा के आकड़ो में बेहद कमी आयी है और यही वजह है कि घाटे का रोना रोकर यात्री किराए में बढ़ोतरी करने वाली दिल्ली मेट्रो को यात्रियों की भारी कमी का नुकसान उठाना पड़ रहा है। किराए में बढ़ोतरी के बाद से हर दिन तीन लाख यात्रियों ने मेट्रो उपयोग करने से तौबा कर लिया है।

दिल्ली मेट्रो प्रशासन का कहना है कि अक्टूबर महीने में छुटियाँ अधिक होने की वजह से ऐसा हुआ है। लेकिन आंकड़े मेट्रो प्रशासन की दलील पर फिट नहीं बैठती है। इससे पहले मई महीने में हुई बढ़ोतरी के बाद भी यात्रियों की संख्या में कमी देखी गई थी। डीएमआरसी ने कहा है कि उत्तरी दिल्ली के समयपुर बादली को गुडगांव से जोड़ने वाला व्यस्त कॉरिडोर येलो लाइन पर यात्रियों की संख्या कुल 19 लाख कम हुई। नये खंड की शुरुआत के वक्त यात्रियों की संख्या में इजाफे के बावजूद हालिया वर्षों में सफर करने वालों की संख्या कम होती गयी। अपेक्षाकृत छोटे मार्ग पर परिचालन के बावजूद अक्तूबर 2016 में मेट्रो में प्रतिदिन औसतन यात्रियों की संख्या 27.2 लाख थी।

डीएमआरसी की ओर से 10 अक्तूबर को किराया बढ़ोतरी लागू करने से तकरीबन प्रत्येक दूरी स्लैब में करीब 10 रुपये की बढ़ोतरी हुई। इससे पांच महीने पहले ही किराये में करीब 100 प्रतिशत की वृद्धि की गयी थी। मई में पहले चरण में किराया बढ़ोत्तरी के बाद मेट्रो में यात्रियों की संख्या जून में प्रति दिन करीब 1.5 लाख घट गयी थी।

हालांकि मेट्रो के बढ़े किराये का मकसद दिल्ली मेट्रो को हो रहा घाटा था लेकिन किराये में बढ़ोतरी के बाद हुए मुनाफे के बावजूद सरकार कश्मकश में है। बढ़ते किराये के चलते प्रतिदिन तीन लाख यात्री कम होते जा रहे है, जिसने दिल्ली को मुनाफे के जगह और घाटे में डाल दिया है।

मेट्रो के बढे किराये को लेकर अब दिल्ली प्रशासन भी सकते में आता दिख रहा है. इस पर केजरीवाल सरकार ने दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों की संख्या में हुई कमी के लिए किराये में हुई वृद्धि को पूण रूप से जिम्मेदार ठहराया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इससे दिल्ली मेट्रो खत्म हो जाएगी, और फिर मेट्रो का औचित्य ही क्या रह जाता है अगर वह यात्रियों को ले जा पाने में ही सक्षम नहीं.

किराये में वृद्धि के बाद मेट्रो के यात्रियों की संख्या को लेकर आरटीआई द्वारा हुए एक खुलासे पर केजरीवाल ने प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया, “किराये में हुई तेज वृद्धि से मेट्रो ख़त्म हो जाएगी अगर लोग इसका इस्तेमाल करना बंद कर देंगे तो फिर इससे क्या मकसद पूरा हो पाएगा?’

किराये में वृद्धि को डीएमआरसी ने जहां उचित ठहराया वहीं दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने इसका विरोध किया। दिल्ली सरकार ने किराया बढ़ाने की जगह डीएमआरसी को हो रहे नुकसान की भरपाई के लिए कुछ सुझाव पेश किए थे, लेकिन इस पर सहमति नहीं बन पाई। किराये में वृद्धि को लेकर केंद्र भी दिल्ली सरकार के निशाने पर है। मेट्रो यात्रियों में आयी गिरावट के चलते केजरी सरकार कोई मौका चूकना भी नहीं चाहती की जिससे उनका अपना मापदंड भी सरकार द्वारा की गयी उपलब्धियों के आकड़ो में फिट हो सके.

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments