APPKI RAY APKA BAZAT UTTRAKHAND GOVERMENT

0
167

APPKI RAY APKA BAZAT UTTRAKHAND GOVERMENT आपकी राय-आपका बजट’’ सवाद पिथौरागढ़

पिथौरागढ़/देहरादून मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार केा पिथौरागढ़ में ’’आपकी राय-आपका बजट’’ कार्यक्रम के तहत उत्तराखण्ड के आगामी बजट के सम्बंध में महिलाओं से संवाद किया तथा प्रस्तावित बजट हेतु महिलाओं के कल्याण आदि विषयों पर उनसे सुझाव आमंत्रित किये। कार्यक्रम में जनपद पिथौरागढ़ मुख्यालय सहित दूरस्थ सीमान्त ग्रामीण क्षेत्रों से आई महिलाओं द्वारा उत्तराखण्ड के आगामी बजट के लिए विभिन्न विषयों पर अपने सुझाव दिये।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि प्रदेश का चहुंमुखी विकास हो हर वर्ग, क्षेत्र का विकास हो इसके अनुरूप बजट तैयार करने के लिये राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर सभी से राय ली जा रही हैं उन्होंने कहा कि बजट राज्य के विकास की प्रथम सीड़ी है इसके निर्धारण में समाज के प्रत्येक व्यक्ति वर्ग की भागीदारी होनी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का आगामी बजट, राज्य के विकास के साथ ही समाज की विभिन्न समस्याओं व परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जायेगा।

कार्यक्रम में जनपद पिथौरागढ़ के विभिन्न क्षेत्रो से आई महिलाओं ने ’’आपकी राय-आपका बजट’’ के संबंध में अनेक सुझाव दिये जिसमें प्रगतिशील काश्तकार रेखा भंडारी द्वारा महिलाओं की किसान बही बनाये जाने, गौडिया गांव की मंजू बिष्ट द्वारा दूध के दाम बढ़ाये जाने एवं महिलाओं हेतु गौशाला का निर्माण किये जाने, जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मी भट्ट द्वारा बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं कार्येक्रम के तहत कार्य कर रही महिलाओं को विशेष  मंच  एवं उनका सम्मान किये जाने, एलडब्ल्यूएस भटकोट की कक्षा 9 में पढ़ने वाली गरिमा मेहरा द्वारा जनपद के विभिन्न स्थानों में डिजिटल लाइब्रेरी खोले जाने व स्मार्ट क्लाास प्रारम्भ किए जाने एवं इसी विद्यालय की कक्षा 11 में पढ़ने वाली मुस्कान द्वारा बोर्ड परीक्षा में परीक्षा केंद्र परिवर्तन होने पर बालिकाओं हेतु आवास एवं आवागमन की सुविधा मुहैया कराए जाने, बालिका इंटर काॅलेज ऐंचोली की कंचन जोशी द्वारा बालिकाओं की सुरक्षा हेतु प्रत्येक बालिका इंटर काॅलेज में बस की सुविधा मुहैया कराए जाने, भारती पंत द्वारा शिक्षा को व्यवसायिक एवं रोजगार परक बनाए जाने, शिक्षा जोशी द्वारा सरकारी विद्यालयों में विज्ञान प्रयोगशाला एवं अध्यापकों की तैनाती किए जाने का सुझाव माननीय मुख्यमंत्री के समक्ष रखा गया।

इसी प्रकार उषा वर्मा द्वारा विधवा पेंशन की राशि बढ़ाए जाने, धारचूला से आई हेमा द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल एवं मार्ग निर्माण के साथ ही गर्भवती महिलाओं को आवश्यक सुविधा मुहैया कराए जाने, रेखा जोशी मेलडुंगरी द्वारा आशा कार्यकत्रिओं का मानदेय बढ़ाए जाने, नीमा मेहता गुरना द्वारा दूध का मूल्य बढ़ाए जाने, गंगोलीहाट से आई शांति कोठारी द्वारा जंगली जानवरों से फसलों को हो रहे नुकसान हेतु चारहदीवारी बनाए जाने, सीमांत इंजीनियरिंग काॅलेज पिथौरागढ़ से आई स्नेहा द्वारा बालिकाओं की कैरियर काउंसलिंग के साथ ही प्लैसमेंट की व्यवस्था किए जाने, देवसिंह की शालिनी भण्डारी द्वारा प्रत्येक विद्यालय में कैंटीन खोलने के साथ ही मुफ्त में स्कूल ड्रेस एवं पुस्तकें उपलब्ध कराए जाने, निर्मला महर राजकीय बालिका इंटर काॅलेज ऐंचोली द्वारा बालिकाओं को उच्च शिक्षा हेतु सरकार की ओर से आर्थिक सहायता दिए जाने, मानसरोवर ऊनी उद्योग से आई पार्वती खम्पा द्वारा जनपद पिथौरागढ़ में ऊन बैंक खोले जाने, रेनुका कोहली द्वारा होम स्टे को उद्योग का दर्जा दिलाए जाने, प्रियंका जोशी द्वारा बालिका इंटर काॅलेज में बालिकाओं की संख्या के आधार पर अधिक से अधिक संख्या में शौचालय का निर्माण कराए जाने, निधि संस्था से आई रेखा धामी द्वारा महिला सशक्तिकरण हेतु अधिक से अधिक प्रोत्साहन दिए जाने, पूनम ग्वाल द्वारा बुनकरों की सहायतार्थ चरखे उपलब्ध कराए जाने का सुझाव मुख्यमंत्री के समक्षा रखा गया।

महिलाओं द्वारा रखे गए सुझावों के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि आगामी बजट जनता का बजट है जनता का बजट जनता से ही पूछकर बनाया जायेगा, आप द्वारा आज जो भी सुझाव रखे गए हैं निश्चित रूप से इन्हें आगामी बजट में रखा जाएगा। कार्यक्रम का संचालन मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री रमेश भट्ट द्वारा किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि बजट के लिये प्राप्त सुझाव महिलाओं की तस्वीर बदलने में कारगर सिद्ध होंगे। प्राप्त सभी सुझावों को बजट प्रस्ताव में शामिल किया जायेगा। उन्होंने सरकार द्वारा महिलाओं के कल्याणार्थ संचालित योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा 08 करोड़ महिलाओं को उज्जवला योजना के तहत निःशुल्क गैस कनैक्शन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके साथ ही महिला कर्मचारियों के पीएफ में उनके द्वारा जमा की गई धनराशि में कटौती की गयी है। जिसके उपरान्त उन्हें अब अधिक वेतन मिलेगा। उन्होंने कहा कि 2019 तक महिला स्वयं सहायता समूहों को ऋण उपलब्ध कराये जाने हेतु 75 हजार करोड़ रूपये का प्रविधान रखा गया है। इसके अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं के स्वास्थ्य एवं प्रतिष्ठा, सम्मान की दृष्टि से 01 करोड़ 88 लाख शौचालयों का पूरे देश मेें बनाने का कार्य प्रारम्भ किया गया है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि महिलाऐं विशेष रूप से पशुपालन से जुड़ी रहती है इस हेतु पशुपालन एवं मत्स्य पालन के क्षेत्र में 10 हजार करोड़ रूपये का बजट का प्राविधान केंद्र सरकार द्वारा रखा गया है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड एक पहाड़ी प्रदेश होने के कारण यहां ठंडे पानी में ट्राउट मछलियां की अधिक संभावना है। इन मछलियों की बाजार में अधिक मांग के साथ ही कीमत भी अच्छी है इस हेतु भी कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गर्भवती महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के लिये प्रधानमंत्री द्वारा 6 हजार रू0 दिये जाने का प्राविधान किया गया है। इसके अतिरिक्त सुकन्या समृद्वि योजना में वर्तमान तक 01 करोड़, 26 लाख बैंक खाते खोलकर सरकार द्वारा इन खातों में 19 हजार, 183 करोड़ रूपये जमा किये गये है। इसके अतिरिक्त महिला सशक्तिकरण का बजट भी केंद्र सरकार द्वारा बढ़ाकर 1366 करोड़ रूपये किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा भी महिलाओं के कल्याण हेतु अनेक योजनाएं संचालित की गयी है। महिला समूहों के लिये ग्रोथ संेटर विकसित कर विभिन्न स्वरोजगार के लिये कार्य किया जा रहा है, जिसमें एलईडी ब्लब व रेडिमेट गारमंेट का निर्माण एवं उनका विपणन सम्मिलित है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में महिलाऐं हर क्षेत्र में आगे है। उन्होंने उपस्थित महिलाओं, बलिकाओं से अपेक्षा की कि जिसमें जो भी प्रतिभा हो वह उसे आगे बढ़ाने में उपयोग करें, सरकार द्वारा उन्हें इस दिशा में पूर्ण सहयोग प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि विगत दस माह में प्रदेश के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सकों की तैनाती कर स्वास्थ्य सुविधा में बढ़ोत्तरी की गई है। उन्होंने कहा कि 2020 तक हर दस किलोमीटर के दायरे में कोई न कोई चिकित्सा व्यवस्था मुहैया होगी इस हेतु योजनाबद्ध ढंग से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने अवगत कराया कि स्वच्छता की दृष्टि से प्रदेश के दो जनपदों में सैनेटरी नेपकिन निर्माण हेतु दो फैक्ट्रिया लगाई जा रही है। इसके अतिरिक्त महिला समूहों को आर्थिक रूप से मजबूत किए जाने हेतु अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। प्रदेश में किसानों की आय को दोगुना किए जाने हेतु दो प्रतिशत ब्याज दर पर एक लाख तक का ऋण सरकार मुहैया करा रही है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने महिलाओं से अपेक्षा की कि वर्तमान दौर में सूचना प्रौद्यौगिकी का वह पूर्ण लाभ उठाये। उनकी किसी भी प्रकार की कोई समस्या हो तो वह उनके फेसबुक पेज, अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से भी अपनी समस्यां उन तक पहॅंचा सकते है ताकि उन समस्याओं का त्वरित समाधान किया जा सके। उन्होंने अवगत कराया कि सोशल मीडिया के माध्यम से तीन दिन पूर्व एक शिकायत प्राप्त हुअी थी जो प्रकाश भट्ट निवासी मजिरकांडा पिथौरागढ़ द्वारा उनकी बहन जिनके द्वारा एअर होस्टिज की परीक्षा  दी गयी थी और उनसे धनराशि लेने के बावजूद भी उन्हें दिल्ली में संस्थान द्वारा छला गया था उक्त संबंध में श्री भट्ट की सोशल मीडिया के माध्यम से शिकायत उन्हें प्राप्त हुयी थी। इस संबंध में उनके द्वारा पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड को त्वरित कार्यवाही के निर्देश देने पर तीन दिन के भीतर संबंधित व्यक्ति एवं संस्था द्वारा रू0 तीन लाख की धनराशि संबंधित को वापस लौटायी गयी।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत, विधायक बिशन सिंह चुफाल, विधायक मीना गंगोला, आचार्य शिव प्रसाद ममगाई, जिलाधिकारी सी.रविशंकर सहित जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आये स्वयं सहायता समूह, विभिन्न संगठनों से आई महिलाएं आदि उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments