अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ी जाति के अभ्यार्थियों के लिए प्रशिक्षण

0
308

अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ी जाति के अभ्यार्थियों के लिए प्रशिक्षण

अल्मोड़ा क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी वाई0एस0 रावत ने बताया कि क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय अल्मोड़ा के अधीन संचालित शिक्षण एवं मार्गदर्शन केन्द्र अल्मोड़ा में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ी जाति के अभ्यार्थियों की सेवायोजकता में वृद्धि के उददेश्य से दिनांक 02 जनवरी 2017 से छः मासीय/एक वर्षीय प्रशिक्षण सत्र में प्रवेश हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किये जा रहे है। उन्होंने बताया कि उक्त छः मासीय/ एक वर्षीय प्रशिक्षण सत्र में निम्न विषयों सामान्य हिन्दी, सामान्य अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, सामान्य गणित, बहीखाता एवं लेखा शास्त्र, सचिवालय पद्धति, हिन्दी टंकण, कम्प्यूटर तथा आशुलिपि(हिन्दी) में निःशुल्क प्रदान दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि छः मासीय/एक वर्षीय प्रशिक्षण में प्रवेश हेतु न्यनूतम अर्हता इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण या समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। हाईस्कूल परीक्षा में अंग्रेजी विषय वाले अभ्यर्थियों को वरीयता प्रदान की जायेगी। आयु सीमा 18 वर्ष से 30 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। प्रशिक्षण हेतु स्थान सीमित है। उन्होंने कहा कि इच्छुक अभ्यर्थी किसी भी कार्य दिवस में आवेदन पत्र का प्रारूप केन्द्र के निःशुल्क प्राप्त कर समस्त शैक्षिक योग्यता के प्रमाणपत्र, अंक तालिकाओं, आयु एवं जनपद अल्मोड़ा के स्थायी/मूल निवास प्रमाण पत्रों की प्रमाणित छाया प्रतियों सहित दिनांक 30 दिसम्बर 2016 तक केन्द्र में जमा कर सकते है। उन्होंने बताया कि दिनांक 31.12.2016 को साक्षात्कार की तिथि निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि साक्षात्कार में उक्त वर्णित समस्त प्रमाण पत्रों को मूल रूप में प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। इस सम्बन्ध में किसी प्रकार का यात्राभत्ता देय नही होगा। प्रशिक्षणार्थियों को आवास, भोजन एवं लेखन सामग्री की व्यवस्था स्वयं करनी होगी।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments