अन्ना हजारे का मोदी सरकार पर आरोप: कहा– लोकपाल कानून किया कमजोर

0
52

Anna Hajare Blamed to Modi Governance:अन्ना हजारे का मोदी सरकार पर आरोप:कहा-लोकपाल कानून किया कमजोर

anna

खजुराहो: जाने माने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि केन्द्र की मोदी सरकार ने पूर्व की संप्रग सरकार के दौरान पारित किये गए लोकपाल विधेयक को कमजोर किया है। जल सम्मेलन में भाग लेने आये अन्ना ने पत्रकारों से कहा कि मनमोहन सिंह बात कम करते थे, लेकिन उन्होंने भी लोकपाल कानून को कमजोर किया था। नरेंद्र मोदी ने लोकपाल कानून को और कमजोर करते हुए संसद में 27 जुलाई, 2016 को एक संशोधन विधेयक पारित किया।

तीन दिवसीय जल सम्मेलन में जल स्त्रोतों के संरक्षण के मुद्दे पर विचार मंथन किया गया तथा जल स्त्रोत्रों के संरक्षण की दिशा में उठाये जाने वाले कदमों के साथ प्रस्ताव भी पारित किये गये। अन्ना ने कहा कि उन्होंने पीएम को कई पत्र लिखे मगर एक का भी जवाब नहीं आया। उन्होंने मांग की 60 वर्ष की आयु पार कर चुके किसानों को पांच हजार रुपये मासिक पेंशन दी जानी चाहिए।

अन्ना ने बताया कि लोकसभा में एक दिन में संशोधन विधेयक बिना चर्चा के पारित हो गया। उसे राज्यसभा में 28 जुलाई को पेश किया गया और 29 जुलाई को संशोधन विधेयक राष्ट्रपति के पास भेजा गया और उसे मंजूरी मिल गयी। केवल तीन दिन में इस कानून को कमजोर कर दिया गया। उन्होंने उद्योगपतियों का कर्ज माफ किए जाने पर सवाल उठाते हुए कहा कि उद्योगपतियों का हजारों करोड़ रुपये कर्ज माफ कर दिया गया है, मगर किसानों का कर्ज माफ करने के लिए सरकार तैयार नहीं है। किसानों का कर्ज मुश्किल से 60-70 हजार करोड़ रुपए होगा। क्या सरकार इसे माफ नहीं कर सकती है।

गुजरात चुनाव के दौरान ही अन्ना की यह बाते भाजपा व् मोदी सरकार के लिए कमजोर कड़ी साबित हो सकती हैं.

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments