अल्मोड़ा में मुख्यमंत्री रावत ने किया विज्ञानं पार्क का शिलान्यास

0
829

अल्मोड़ा में मुख्यमंत्री रावत ने किया विज्ञानं पार्क का शिलान्यास
अल्मोड़ा महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के साथ ही महिला मंगल दलों व स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से 05 लाख तक के निर्माण से सम्बन्धित कार्य कराये जायेंगे इसके लिए स्वयं सहायता समूहों व महिला मंगल दलांे के खाते में 05 हजार रू0 जमा किया जा रहा है यह बात प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज राजकीय इण्टर कालेज अल्मोड़ा में एक विशाल जन समूह को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे जनपद में महिला स्वयं सहायता समूहो व महिला मंगल दलो को चिन्हित कर कार्य देना सुनिश्चित करेंगे ताकि हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को एक नया आयाम मिल सके। यही नहीं महिला स्वयं सहायता समूहों को इन्द्रा अम्मा भोजनालय को संचालित करने के साथ ही स्वास्थ्य सेवा से जोड़ने का काम भी कराया जायेगा। गढ़वाल मण्डल में इसकी शुरूआत हो चुकी है साथ ही महिला दुग्ध संघ, महिला दुग्ध मण्डल बनाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जायेगा। जिन नगरपालिका परिषद् व नगर पंचायत द्वारा जमीन उपलब्ध करायी जायेगी वहाॅ पर इन्द्रा अम्मा भोजनालय शीघ्र खोल दिये जायेंगे। शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने एवं विज्ञान के प्रति छात्रों की अभिरूचि विकसित करने के लिए अल्मोड़ा में आज 06 करोड़ की लागत से बनने वाले विज्ञान पार्क जो नगर के समीप स्यालीधार में बनाया जायेगा उसका शिलान्यास प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री द्वारा किया गया। उन्होंने कहा कि कार्यदायी संस्था ग्रामीण विकास विभाग को निर्देश दिये गये है कि वे इसका निर्माण तुरन्त कराना सुनिश्चित करेंगे। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् उत्तराखण्ड, उप क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र के नाम से इसे जाना जायेगा। उन्होंने कहा कि अल्मोड़ा शिक्षा के क्षेत्र में हमेशा अग्रणी रहा है एक नई ऊॅचाई को और छूने जा रहा है। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में दोनो मण्डलों में एकएक शहर को स्मार्ट शहर के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है जिसमें कुमाऊॅ मण्डल में अल्मोड़ा शामिल है इस शहर में नई संस्कृति विकसित करने का प्रयास किया जायेगा। विज्ञान केन्द्र राज्य का यह दूसरा केन्द्र होगा इससे पूर्व देहरादून में एक विज्ञान केन्द्र की स्थापना की गयी है। स्वास्थ्य सेवाओ में बेहतर सुधार लाने के लिए मेडिकल कालेज हेतु 99 करोड़ रू0 अवमुक्त कर दिया गया है इसके साथ बेस चिकित्सालय में आवश्यक संशाधन जुटाने के लिए 30 करोड़ रू0 अवमुक्त करा दिया गया है साथ ही मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना हेतु जो पूर्व में 50 हजार रू0 धनराशि निर्धारित की गयी थी उसे बढ़ाकर 01 लाख 75 हजार रू0 कर दिया गया है। अल्मोड़ा के सोमेश्वर क्षेत्र में महिला बेस चिकित्सालय खोलने का भी निर्णय लिया गया है। उन्होंने शिक्षा के उन्ययन हेतु ठोस कदम उठाने के लिए टीम भावना से कार्य करने को कहा साथ ही उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 के अंत तक सभी कालेजो, आई0टी0आई0 व पौलीटैक्नीक में प्रधानाचार्य व शिक्षकों की शतप्रतिशत भर्ती कर दी जायेगी। तकनीकी शिक्षा को विकसित करने के साथ ही हस्तशिल्प उद्योग को बढ़ावा देने के लिए गरूड़ाबाॅज में एक मुंशी हरि प्रसाद टम्टा शिल्प एवं उन्ययन संस्थान की स्थापना की गयी है जहाॅ पर युवाओं को प्रशिक्षण दिया जायेगा। 02 वर्ष पूर्व समाज कल्याण विभाग द्वारा 01 लाख 89 हजार पात्र लोगो को विभिन्न पेंशन योजनाओं आच्छादित किया गया था जो आज बढ़कर 07 लाख से भी अधिक है। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि केवल अल्मोड़ा विधानसभा क्षेत्र में ही 200 करोड़ से भी अधिक की स्वीकृतियाॅ की जा चुकी है जिनमें से अधिकतर घोषणाओं में कार्य हो चुका है जिनमें से प्रमुखतयः अल्मोड़ा में आवासीय विद्यालय, मलिन बस्तियों का सुधार सहित अनेक योजनायें है। पेयजल की गम्भीर समस्या को देखते हुए प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि एक हजार जलाशय, दस हजार छोटेछोटे तालाब और एक हजार चैकडैम बनाये जायेंगे साथ ही गाॅवगधेरों के पानी का सदुपयोग करने के लिए उस पानी को रोककर डैम बनाया जायेंगे जिसकी शुरूआत कुमाऊॅ एवं बैजनाथ से की गयी है साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में इस तरह के कार्य कर उन्हें जल शक्ति के रूप में विकसित किया जायेगा जो बाद में ग्रीन गोल्ड के नाम से जाने जायेंगे। प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मन्दिरों को सीधे आधुनिक सुविधाओं से जोड़ा जायेगा इसके लिए जागेश्वर, पाताल भुवनेश्वर, हाट कालिका सहित छोटे कैलाश को विकसित किया जा रहा है ताकि ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा मिल सके। होम स्टे योजना के अन्तर्गत पायलट प्रोजेक्ट के रूप में अल्मोड़ा व उत्तरकाशी का चयन किया गया था जिसके सार्थक परिणाम दृष्टिगोचर हो रहे है। उन्होंने कहा कि हमे इस बात की खुशी है पूरे भारत में विकसित राज्यों में हमारे राज्य को छठा स्थान मिला है और वार्षिक विकास दर 13 प्रतिशत से बढ़ी हुई है। उन्होंने यह भी बताया कि अल्मोड़ा में स्व0 राम प्रसाद टम्टा के नाम से एक जलाशय को विकसित किया जायेगा जिसके लिए 40 करोड़ रू0 की स्वीकृति शीघ्र प्रदान की जा रही है ताकि नदियों का पानी उसमें डालकर फिल्टरेशन के माध्यम से उसे आम जनता के उपयोग हेतु काम में लाया जायेगा। चारधाम यात्रा के सफल संचालन के बाद पर्यटकों की संख्या में वृद्वि हुई है साथ ही पर्यटन सुरक्षा के क्षेत्र में उत्तराखण्ड का पूरे देश अच्छा संदेश गया है अतिथि देवो भवो की भावना को भी बल मिला है। बाल विकास के माध्यम से अन्न प्रसान्न, खिलती कलियाॅ सहित अन्या योजनाओं को संचालित करने का काम किया जा रहा है ताकि लोगो को उसका लाभ मिल सके। पर्वतीय क्षेत्रों में उत्पन्न होने वाली फसल को बाजार में विपणन हेतु स्थान मिल सके इसके लिए भी कार्य किया जा रहा है साथ ही काश्तकारों की समस्या को देखते हुए बन्दर बाड़े बनाने के साथ सूअरों को मारने के लिए भी स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सर्वागीर्ण विकास के लिए सरकार कृत संकल्प है साथ ही सभी विधानसभा क्षेत्रों में वहाॅ की प्राथमिकताओं के आधार पर विकास कार्यों को आगे बढ़ाया जायेगा। इसके तुरन्त बाद मा0 मुख्यमंत्री ने चितई पहुॅचकर पूजाअर्चना की और मन्दिर परिसर में चैली एैपण संस्था द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें विशेष प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की और कहा कि इस तरह के कार्यों से प्रदेश में सम्मान बढ़ा है। उन्होंने कहा कि चैली एैपण संस्था को वन टाईम ग्राण्ट की स्वीकृति प्रदान की जा रही है साथ ही आगामी अक्टूबर में चैली एैपण प्रतियोगिता व एैपण फैशन शो का आयोजन भी अल्मोड़ा में कराया जायेगा। आपदा प्रबन्धन के क्षेत्र में पूरे प्रदेश में जनपद अल्मोड़ा ने एक नई शुरूआत कर एक अति आधुनिक संशाधनों से सुसज्जित वाहन को तैयार किया गया है जो आपदा के समय में कार्य करेगा। मा0 मुख्यमंत्री ने इस तरह के कार्य की जिलाधिकारी सहित उनके टीम की सराहना की। इस अवसर पर एक माॅक ड्रिल का आयोजन किया गया जिसके बारे में आपदा प्रबन्धन अधिकारी ने विस्तार से बताया। उन्होंने यह भी बताया कि जो वाहन तैयार किया गया है उसमें 95 हजार रू0 खर्च कर सभी आपदा से निपटने के लिए संशाधनों से लैस किया गया है। सर्किट हाउस में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बनाये गये म्यूरल का भी उद्घाटन मा0 मुख्यमंत्री ने किया। इस अवसर पर प्रदेश के मा0 विधानसभा अध्यक्ष गोविन्द सिंह कुंजवाल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, पूर्व सासंद प्रदीप टम्टा, द्वाराहाट के विधायक मदन बिष्ट, कपकोट के विधायक ललित फर्सवाण, विधायक मनोज तिवारी, रानीखेत के पूर्व विधायक करन मेहरा, कांग्रेस जिलाध्यक्ष पीताम्बर पाण्डे, प्रताप सिंह सत्याल ने अपने विचार रखे। संस्कार सांस्कृतिक परिषद् एवं हिमाद्री कला केन्द्र के कलाकारों ने अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। इस कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पार्वती मेहरा, नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रशान्त भैसोड़ा, जिला पंचायत बागेश्वर के अध्यक्ष हरीश ऐठानी, कुमाऊॅ मण्डल विकास निगम के उपाध्यक्ष गोपाल दत्त भटट, अनुसूचित जाति जनजाति आयोग के उपाध्यक्ष राजेन्द्र बाराकोटी, सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष सिकन्दर पवाॅर, ब्लाॅक प्रमुख भैसियाछाना हरीश बनौला, जलागम प्रबन्धन के उपाध्यक्ष दिनेश कुंजवाल, पूर्व जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष मोहन सिंह मेहरा, अर्बन कौपरेटिव बैंक के अध्यक्ष आनन्द बगड़वाल, दुग्ध संघ के अध्यक्ष दीप डागीं, बीस सूत्रीय कार्यक्रम के उपाध्यक्ष त्रिलोचन जोशी, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री केवल सती, वन पंचायत सलाहकार समिति के उपाध्यक्ष धरम सिंह मेहरा, राजेन्द्र टंगड़िया, तारा चन्द्र जोशी, नगरपालिका के सभासद, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष लता तिवारी सहित अनेक ब्लॅाक प्रमुख जनप्रतिनिधि गणमान्य लोग, जिलाधिकारी सविन बंसल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के0एस0 नगन्याल, मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र, अपरजिलाधिकारी इला गिरी, उपजिलाधिकारी विवेक राय, हेमन्त वर्मा, एन0एस0 नगन्याल, जिला विकास अधिकारी मोहम्मद असलम, परियोजना निदेशक डी0डी0 पंत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर कांग्रेस अध्यक्ष पूरन रौतेला ने की तथा संचालन तारू तिवारी व संजय दुर्गापाल से संयुक्त रूप से किया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments