अागरा में कूड़े के ढेर से मिला 50 लाख रुपये भरा बैग

0
755

अागरा में कूड़े के ढेर से मिला 50 लाख रुपये भरा बैग

दिल्ली आगरा बड़े नोट बंद करने से जमाखोरों में खलबली शुरू हो गई है। गुरुवार को संजय प्लेस स्थित आइडीबीआइ बैंक के पास कोई कूड़े के ढेर पर नोटों से भरा बैग फेंक गया, जो बीमा एजेंट को मिला। बैग ले जाते में सदर पुलिस ने चेकिंग के दौरान पकड़ लिया। एजेंट और उसके साथी से देर रात तक पुलिस की पूछताछ जारी थी।
चेकिंग में सदर पुलिस ने बाइक सवार युवक को संदेह होने पर रोक कर बैग की तलाशी तो उसमें 500 तथा 1000 रुपये के नोट देखकर हैरान रह गई। पूछताछ करने पर युवक ने अपना नाम लकी निवासी नौबस्ता लोहामंडी बताया। लकी का कहना था कि वह बीमा एजेंट है, उक्त रकम हरीपर्वत के घटिया आजम खां स्थित चारसू गेट निवासी विकास अग्रवाल की है। विकास ने पुलिस को बताया वह और लकी बीमा एजेंट हैं। संजय प्लेस में आइडीबीआइ बैंक के पास उसका ऑफिस है। दोपहर में एक बाइक सवार बैंक के पास कूड़े के ढेर पर बैग फेंक कर भाग गया। शक होने पर वह बैग को उठाकर ले आया। उसे खोला तो 500 तथा 1000 रुपयों के नोटों से भरा हुआ था। रकम गिनने पर वह 50 लाख रुपये थे। साथी एजेंट लकी ने उसे बताया कि सदर के राजपुर चुंगी में एक व्यक्ति 50 लाख के बदले में 30 लाख के नए नोट दे देगा। रकम बदलवाने को उसने बैग लकी को दे दिया था। इंस्पेक्टर अशोक कुमार सिंह ने बताया कि दोनों बीमा एजेंटों से पूछताछ की जा रही है। एजेंट के दावों की पुष्टि के लिए पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज शुक्रवार को खंगालेगी। शहर में पुराने नोटों को 60 से 70 प्रतिशत पर खरीदने की चर्चा कई दिन से चल रही थी। गुरुवार की रात पुलिस द्वारा पकड़े गए बीमा एजेंटों से मिली जानकारी के बाद इस पर मुहर लग गई है। शहर में बड़े पैमाने पर रकम बदलने का खेल चल रहा है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।