हल्द्वानी के रामलीला मैदान में भव्य पुस्तक मेले का शुभारम्भ

0
154

हल्द्वानी के रामलीला मैदान में भव्य पुस्तक मेले का शुभारम्भ

हल्द्वानी/देहरादून : रामलीला मैदान हल्द्वानी में राष्ट्रीय पुस्तक न्यास द्वारा आयोजित नौ दिवसीय पुस्तक मेले का शुभारम्भ मुख्य अतिथि सांसद भगत सिह कोश्यारी, उच्चशिक्षा राज्य मंत्री डा0 धनसिह रावत, अध्यक्ष एनबीटी बलदेव भाई शर्मा एवं जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया। 

बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित करते हुये सांसद भगत सिह कोश्यारी ने कहा कि पुस्तकें ज्ञान का भण्डार है। साहित्य में ही रत्न छिपे है इसलिए पुस्तकें अवश्य पढ़े। उन्होने कहा हमारे पूर्वज पहले श्रुतिज्ञान होता था फिर उन श्रुतियों को संकलित किया गया तब पुस्तको का सृजन हुआ। उन्होने कहा कि महापुरूषों, बुद्विजीवों आदि के जीवन दर्शन को अवश्य पढना चाहिए ताकि हम उनसे प्रेरित होकर अपने जीवन कार्यो मे समाहित कर सकें। उन्होेने कहा कि ज्ञान से ही अंधेरा दूर होता है इसलिस बच्चो व युवाओ को पुस्तक पढने हेतु प्रेरित करें। श्री कोश्यारी ने कहा कि कुमायू द्वार हल्द्वानी में एनबीटी द्वारा पुस्तक मेला लगाने पर आभार व्यक्त करते हुये पुस्तक मेले का अधिक से अधिक लाभ उठाने की अपील की।

अपने सम्बोधन मे उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डा0 धनसिह रावत ने कहा कि राष्ट्रीय पुस्तक न्यास प्रशासन के सहयोग से पहली बार हल्द्वानी मे पुस्तक मेले का आयोजन किया जा रहा है जो सराहनीय कार्य है। उन्होने कहा कि ज्ञान किसी माध्यम से प्राप्त होता है उसे ग्रहण करें पुस्तकें इसका एक अति महत्वपूर्ण माध्यम है। उन्होने कहा कि प्रत्येक गांव मे एक-एक पुस्तकालय बनाया जायेगा ताकि गांव के बच्चे, युवा एवं सुधि पाठक पुस्तको का लाभ उठा सकते है। उन्होने यह भी कहा कि पूर्ण नशा मुक्त गांव को एक लाख की प्रोत्साहन राशि दी जा रही है। अभी तक प्रदेश मे 27 गांव नशा मुक्त हो गये है। धनसिह रावत ने कहा कि महाविद्यालयों में सुचारू पठन-पाठन व शिक्षा की गुणवत्ता को बढाने के साथ ही शौर्य पदक विजेताओं के बारे मे छात्र-छात्राओं को प्रेरित करने के लिए शौर्य दीवारें स्थापित की गई है। उन्होने कहा कि 52 महाविद्यालयों में किताबें व फर्नीचर आदि खरीदने के लिए रूसा से 2-2 करोड की धनराशि उपलब्ध कराई गयी है।

एनबीटी अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा व प्रो0 लक्ष्मण सिह बटरोही ने सभी के सहयोग का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि एनबीटी 1957 से लगातार कार्य कर रहा है। प्रगति मैदान दिल्ली में पुस्तक मेला आयोजन के साथ ही देश के विभिन्न शहरों मेें पुस्तक मेला आयोजित करता है। उन्होने हल्द्वानी मे पुस्तक मेला आयोजित करने हेतु प्रशासन द्वारा दिये गये सहयोग की सराहना की। उन्होने कहा कि देहरादून, श्रीनगर, हल्द्वानी के साथ ही अल्मोडा मे शीघ्र पुस्तक मेले का आयोजन किया जायेगा। उन्होने कहा पुस्तके अधिकाधिक पढी जांए पुस्तके ही सच्चे दोस्त होती है। पुस्तके कैरियर निर्माण के साथ ही जीवन मूल्यों का निर्माण करती है। आज के दौर में सोशल मीडिया ने हमारी अभिव्यक्ति का स्वरूप बदला है। पुस्तक संस्कृति का विस्तार है, किताबो से ही ज्ञान अंकुरित होता है। रेडियो, टीवी, सोशल मीडिया संस्कृति का विस्तार है।

कार्यक्रम में अध्यक्ष नैनीताल जिला सहकारी बैक राजेन्द्र सिह नेगी, क्षेत्रीय खाद्य नियंत्रक ललित मोहन रयाल,सहायक निदेशक एनबीटी मयंक सुलोरिया,सिटी मजिस्टेट पंकज उपाध्याय,उप जिलाधिकारी एपी बाजपेयी, डा0 अनिल कपूर डब्बू, चन्दन विष्ट, प्रकाश रावत, जसपाल सिह, शंकर कोरंगा, धु्रव रौतेला, प्रमोद बोरा,पवन चैहान,मनोज साह, जेडए वारसी, गणेश पंत, चतुर सिह बोरा, राजेन्द्र जीना,संयोजन दिनेश मानसेरा आदि मौजूद थे। संचालन प्रमोद कुमार साह द्वारा किया गया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments