क्यों मनाया जाता है 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस: 26 January Republic Day Facts

0
229

क्यों मनाया जाता है 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस: 26 January Republic Day Facts

26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान पूर्णतया लागू हुआ था. अतः 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाने लगा. देश का 69वां गणतंत्र दिवस मनाने जा रहे अधिकतर लोग गणतंत्र दिवस की कुछ महत्वपूर्ण बातों से अनजान होंगे जैसे कि क्या आप जानते हैं गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है ? पहली बार राष्ट्रीय ध्वज कहां फहराया गया था ? आइए आज आपको बताते हैं रिपब्लिक डे के बारे में कुछ ऐसे तथ्य जो शायद ही आप जानते होंगे.

भारत का संविधान अपने देश का सबसे बङा संविधान है. संविधान निर्माण की प्रक्रिया 2 वर्ष, 11 महिना, 18 दिनों में पूरी हुई थी जिसे डॉ. भीमराव अम्बेडकर द्वारा लिखा गया था, वे प्रारूप समिति के अध्यक्ष थे. भारतीय संविधान के निर्माताओं ने अपने संविधान निर्माण के दौरान विश्व के अनेक संविधानों के अच्छे लक्षणों को अपने संविधान में आत्मसात करने का प्रयास किया. इस दिन भारत पूर्ण रूप से गणतांत्रिक देश बन गया था. देश को गौरवशाली गणतंत्र राष्ट्र बनाने में जिन देशभक्तों ने अपना बलिदान दिया उन्हें 26 जनवरी के दिन याद किया जाता और उन्हें राष्ट्रगान गाकर श्रद्धाजंलि भी दी जाती है.

आइये जानें गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य :

1. पूर्ण स्वराज दिवस को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान 26 जनवरी को लागू किया गया था.
2. 26 जनवरी 1950 को 10.18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया था.
3. गणतंत्र दिवस की पहली परेड 1955 को दिल्ली के राजपथ पर हुई थी.
4. भारतीय संविधान की दो प्रतियां जो हिन्दी और अंग्रेजी में हाथ से लिखी गई.
5. भारतीय संविधान की हाथ से लिखी मूल प्रतियां संसद भवन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी हुई हैं.
6. भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ.राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाऊस में 26 जनवरी 1950 को शपथ ली थी।
7. गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति तिरंगा फहराते हैं और हर साल 21 तोपों की सलामी दी जाती
है.
8. 29 जनवरी को विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी का आयोजन किया जाता है जिसमें भारतीय
सेना, वायुसेना और नौसेना के बैंड हिस्सा लेते हैं.
9. यह दिन गणतंत्र दिवस के समारोह के समापन के रूप में मनाया जाता है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 69वें गणतंत्र दिवस कि पूर्व संध्या में राष्ट्र के नाम पहला सम्बोधन दिया है. कोविंद ने 69वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित करते हुए देशवासियों को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि यह राष्ट्र के प्रति सम्मान की भावना के साथ हमारी सम्प्रभुता का उत्सव मनाने का अवसर है. उन्होंने कहा कि बेटियों को बेटों कि तरह शिक्षा का पूर्ण अवसर दिया जाना देश के लिए गौरव कि बात है. उन्होंने कहा कि राष्ट्र का निर्माण मात्र बड़ी-बड़ी योजनाओ से ही नहीं होता अपितु उसके लिए छोटे-छोटे अभियान भी मह्त्वपूर्ण भमिका निभाते हैं.

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments