सौ साल पुराना पुल धामको के बाद भी बना रहा फौलाद

0
306

सौ साल पुराना पुल धामको के बाद भी बना रहा फौलाद  100 years old bribge uttarakhand
ज्योलीकोट-भवाली मार्ग का ये पुल करीब सौ साल पुराना होने के बाद भी कई धामको के बाद भी उसका सीना नहीं हिला सका रोज़ाना पहाड़ी जनपद के लोगो को जरुरत का सामान अपने ऊपर से जाने वाले वाहनों के माध्यम जाने वाला ये पुल इतना बलवान निकला गया की उसको कई धामको से भी कोई फर्क नहीं पड़ा हलकी ये धमाके ये हादसे की वजह से हुए थे लेकिन सौ साल पुराना ये पुल उन धामको के कई विस्फोट होने के बाद भी अपना सीना मजबूती के साथ कायम रख सका सौ साल पुराना पुल धामको के बाद भी बना रहा फौलाद

खबर के अनुसार हल्द्वानी से बागेश्वर के कपकोट जा रहे सिलेंडर से भरे ट्रक में आग सिलेंडरों तक पहुंची तो शोला बन गई। विस्फोट की वजह से पुल की बुनियाद हिल गई तो गार्डर भी पिघलकर टेड़े हो गए। इलाके के बुजुर्गो के अनुसार यदि पुल की गुणवत्ता ठीक नहीं होती तो इतने विस्फोट से नामोनिशान मिट जाता।1916 में ज्योलीकोट-भवाली मार्ग पर 50 मीटर लंबे व तीन मीटर चौड़े पुल का निर्माण कैनाल फाउंड्री एंड इंजीनियर्स वर्कर्स ब्रिज बिल्डर्स स्ट्रक्चर इंजीनियर्स आयरन एंड ब्रास फाउंडर रुड़की द्वारा किया गया था। भारी बारिश में भी पुल को कभी बंद नहीं करना पड़ा। मगर सोमवार को एलपीजी गैस सिलेंडर से भरे ट्रक में आग भड़की तो सिलसिलेवार धमाकों से पुल का डामर पूरी तरह पिघल गया। यही नहीं लोहे के गार्डर भी पिघल कर टेढ़े हो गए। यही वजह है कि एनएच के अधिकारियों ने निरीक्षण के बाद तेज लपटों से बुनियाद कमजोर पाई तो ट्रैफिक बंद करने की सलाह दी। आग के शोलों से सिलेंडर गधेरे में पहुंच गए तो पानी में कई सिलेंडर बह गए। धमाकों की वजह से काफी देर तक आसपास का माहौल दहशत में रहा। लोग दूर से ही इसे देखते रहे। जब आग बुझी, तब लोग मौके पर पहुंचे।
उत्तराखंड में गैस सिलेंडर से भरी गाड़ी में आग लगाने के बाद धामको का ये दूसरा हादसा हुआ है इससे पहले गढ़वाल मंडल में बद्रीनाथ मार्ग पर गैस सिलेंडर से भरे ट्रक में आग लग गयी थी वहाँ पर भी इसी तरह के धामको से आग का शोला बना पूरा ट्रक जलकर रख हो गया था पहाड़ी जनपद में हुई इस तरह के हादसों की दूसरी घटना होने के बाद लगातार इस बात की भी जांच की जा रही है आखिर इस तरह से हादसे क्या किसी तकनिकी कमी के कारण तो नहीं हो रहे है कुल मिलकर भवाली मार्ग पर हुए हादसे में ट्रक का चालक सहित दूसरे लोग जरूर झुलस गए है जिनका इलाज अस्पताल में किया जा रहा है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।