खनन पट्टो की नीलामी में करोड़ो की लगी बोली ओनलाइन हुआ विभाग

0
181

देहरादून प्रदेश में पहली बार सरकारी कार्यों अथवा पट्टे आदि के आवंटन हेतु ई-आॅक्शन प्रक्रिया का क्रियान्वयन हुआ है। राज्य के विभिन्न जनपदों में चिन्ह्ति उप खनिज लाॅटों के आवंटन हेतु सरकार द्वारा ई-निविदा सह ई-नीलामी की प्रक्रिया लागू की है। इस प्रक्रिया के अंतर्गत प्रथम चरण में ई-निविदा प्रक्रिया संपन्न होनी होती है तथा ई-निविदा के सफल घोषित निविदाकारों को ई-आॅक्शन में प्रतिभाग करने की अनुमति प्रदान करते हुए आॅक्शन की प्रक्रिया आॅनलाइन संपन्न की जाने का प्राविधान है। 

गुरूवार को हरिद्वार जनपद के भगवानपुर तहसील के दो अन्य खनन लाॅटों की ई-आॅक्शन प्रक्रिया संपन्न हुई है। संपूर्ण प्रक्रिया निर्बाध रूप से संपन्न हुई है। खनन क्षेत्र बंजारावाला 9.8780 हेक्टेयर हेतु कुल अधिकतम उपखनिज की मात्रा 2,17,316 टन की वार्षिक निकासी हेतु आधार मूल्य रू. 1,52,12,120 निर्धारित की गयी। उक्त खनन लाॅट हेतु पूर्व में योजित ई-निविदा (प्रथम चरण) में चार निविदाकार ही द्वितीय चरण अर्थात् ई-नीलामी की प्रक्रिया में प्रतिभाग करने हेतु सफल घोषित किया गया। किन्तु तीन प्रतिभागियों के मध्य निरन्तर बोलियां दर्ज करायी जाती रही हैं। उक्त ई-नीलामी  के लिए निर्धारित समय प्रातः 10.00 बजे से अपराह्न 01.00 बजे तक निर्धारित था तथा 01.00 बजे से 05.00 मिनट पूर्व में यदि कोई बोली प्राप्त होने पर समय अन्य बोलीदाताओं हेतु 5 मिनट स्वतः अग्रेनीत हो जाने का प्राविधान रखा गया है। बोलीदाताओं द्वारा 01.00 बजे के बाद भी लगातार बोलियां दर्ज करायी जाती रही तथा लगभग 01.55 बजे तक बोली बढ़ती चली गई। अंततः ई-नीलामी में अधिकतम बोली रू 9,49,23,000 प्राप्त हुई है जो निर्धारित आधार मूल्य के लगभग छः गुना से अधिक है। 

दूसरे खनन क्षेत्र बंजारावाला ग्राण्ट 6.6755 हेक्टेयर क्षेत्रफल हेतु कुल अधिकतम उपखनिज की मात्रा 146861 टन की वार्षिक निकासी हेतु आधार मूल्य रू. 1,02,80,270 मात्र निर्धारित की गयी तथा तीन बोलीदाताओं ने प्रतिभाग किया। ई-नीलामी में अधिकतम बोली 6,66,15,766 रूपये की प्राप्ति हुई है, जो आधार मूल्य के लगभग साढे छः गुना से अधिक है। 

ज्ञातव्य है कि तकनीकी के उपयोग से संपन्न की जा रही रियल टाइम आॅनलाइन प्रक्रिया का राज्य में पहला एवं सफल प्रयोग रहा है। निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म द्वारा अवगत कराया गया है कि प्रतिभागियों के मध्य जबरदस्त प्रतिस्पर्धा देखने को मिल रही है तथा सरकार को अधिकाधिक राजस्व प्राप्ति के साथ-साथ अवैध खनन पर नियंत्रण हो जाने की पूर्ण संभावना है। 

प्रमुख सचिव खनन, श्री आनन्द वर्द्धन ने सचिवालय स्थित अपने कक्ष में ई-नीलामी की आॅनलाइन प्रक्रिया के रियल टाईम निरन्तर बढ रही बोलियो का अवलोकन किया तथा एनआईसी द्वारा निर्मित ई-नीलामी साॅफ्टवेयर के परफार्मेंस एवं गुणवत्ता पर संतोष व्यक्त करने के साथ ही बोलीदाताओं के उत्साह एवं आधार मूल्य के सापेक्ष अधिकतम प्राप्त बोली पर भी संतोष व्यक्त किया।  

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments